लहसुन एक ऐसी खाद्य सामग्री जो हर किसी के रसोई में पाया जाता है | खाने को स्वादिष्ट बनाने के साथ-साथ इसका प्रयोग औषधि के रूप में भी किया जाता है |

आयुर्वेद में इसे ‘एंटी पावर कैंसर’ के नाम से भी जाना जाता है | इसमें कई प्रकार के पोषक तत्व पाए जाते हैं जैसे; विटामिन ए,बी,सी और सल्फ्यूरिक एसिड | सल्फ्यूरिक एसिड की वजह से ही इसका स्वाद और गंध तीखा होता है | लहसुन में एलियम नामक एंटीबायोटिक पाया जाता है इसलिए यह संक्रामक रोगों से मुक्ति दिलाने में सहायक होता है |

यदि आप ताजा लहसुन खरीदना चाहते हैं, तो आप इसे bigbasket.com पर प्राप्त कर सकते हैं। यह वेबसाइट पर आप छूट भी प्राप्त कर सकते हैं, जिसके लिए आपको इसकी सर्वोत्तम कीमत भी मिल सकती है। सबसे अच्छा सौदा पाने के लिए आप ग्रैबन के बिगबास्केट पेज को चेक करें।

इसे ‘पारंपरिक वैद’ भी कह सकते हैं | विश्व के हर एक देश में खाने में इसका प्रयोग किया जाता है | आजकल बाज़ार में ये कई रूप में उपलब्ध है जैसे- सूखे लहसुन, भुने हुए लहसुन, लहसुन के चूरे आदि | लहसुन को कच्चा ही खाना चाहिए, पकाकर खाने से इसके गुण लगभग नष्ट हो जाते हैं | लहसुन को सुबह खाली पेट खाएँ तो उसके अलग फ़ायदे हैं, यदि चटनी बनाकर खाते हैं तो उसके अलग फायदे हैं |

Contents

लहसुन के १० फायदे – Top 10 health benefits of Garlic in Hindi

1.उच्च रक्तचाप पर नियंत्रण ( Control on Blood Pressure)

उच्च रक्तचाप वाले लोगों के लिए लहसुन बहुत ही उपयोगी है | इसमें सक्रिय यौगिकों (Active Compound) के होने के कारण नियमित रूप से इसका सेवन करने पर रक्तचाप को नियंत्रण में रखा जा सकता है |

2. पित्त सांद्रव को कम करना ( Reduce Cholesterol)

प्रतिदिन सुबह खाली पेट लहसुन की एक या दो कली लेने से कोलेस्ट्राल कम हो जाता है | कुछ लोगों को इसके गंध से परहेज होता है, ऐसे में आप चाहे तो इसे कूटकर पानी के साथ निगल सकते हैं |

3. सर्दी और ज़ुकाम से राहत (Relief from cold and cough)

अधिक सर्दी और ज़ुकाम होने पर लहसुन की कली को सरसों तेल में अच्छी तरह जलाकर उसकी मालिश करने पर राहत मिलती है |

4. हड्डियों को मजबूत करना ( Strong Bones)

लहसुन का सेवन हड्डियों को मजबूती प्रदान करता है | गठिया से पीड़ित व्यक्ति को अपने खान-पान में लहसुन अवश्य शामिल करना चाहिए |

5. रक्त-शुद्धि (Blood Purification)

यदि आप त्वचा के दाग-धब्बों से परेशान हैं तो लहसुन की दो या तीन कली को गरम पानी में नींबू के साथ लेने पर रक्त शुद्ध हो जाता है और त्वचा की चमक वापस आ जाती है |

6. कैंसर-निवारण (Cancer Prevention)

नियमित रूप से लहसुन खाने पर यह शरीर के प्रतिरक्षा शक्ति(Immunity Power) को बढ़ाता है और कैंसर जैसे खतरनाक बीमारी से दूर रखता है | लहसुन को भूनकर खाने पर यह शरीर के अंदर जाकर कैंसर की कोशिकाओं को समाप्त कर देता है |

7. हृदय-रोग से रक्षा ( Prevention from Heart Disease)

चूँकि लहसुन का सेवन कोलेस्ट्राल को नियंत्रित रखता है अतः हृदय की बीमारी से भी हमारी रक्षा करता है |

8. कीड़े-मकोड़े के काटने पर (Insect bites)

कीड़े-मकोड़े के काटने पर यदि उस जगह पर कच्चे लहसुन की कली को रगड़ दिया जाए तो दर्द से छुटकारा मिलता है और किसी तरह विष होने पर वह भी निकाल जाता है |

9.वजन कम करने के लिए (Weight loss)

शहद और लहसुन के मिश्रण को खाने से ये शरीर में जमे चर्बी को कम करने में सहायक होता है |

10. बाल-झड़ने की समस्या से छुटकारा ( Prevention from hair fall)

बहुत लोगों को लहसुन का गंध अच्छा नहीं लगता, ऐसे लोग यदि लहसुन को कद्दू कस करके या उसे कूटकर दही के साथ मिलाकर खाएं तो गंध भी नहीं आता और बालों का झड़ना भी कम हो जाता है |

लहसुन से होने वाले १० नुकसान – Top 10 disadvantages or side effects of Garlic

हर वस्तु के दो पहलू होते हैं | एक ओर जहाँ हमें लहसुन के अनेक फायदे हैं वहीं दूसरी ओर यदि इसे सही तरीके से और सही मात्रा में न खाया जाए तो यह अमृत-सा कार्य करनेवाला लहसुन हमें क्षति भी पहुँचाता है |

1. कमज़ोर लीवर (Weak Liver)

जिन लोगों का लीवर कमजोर होता है या लीवर संबंधी कोई भी बीमारी होती है उन्हें कभी भी खाली पेट लहसुन नहीं लेना चाहिए |

2. निम्न रक्तचाप (Low Blood Pressure)

जिनका रक्तचाप निम्न (Low Blood Pressure) रहता है, उन्हें कच्चा लहसुन बिलकुल नहीं खाना चाहिए क्योंकि कच्चे लहसुन के सेवन से रक्तचाप और कम हो जाता है |

3. गर्भावस्था के समय (During Pregnancy)

लहसुन गरम तासीर का होता है अतः गर्भधारण के पश्चात इसका सेवन न करें तो अच्छा रहता है |

4. सर्जरी के पश्चात (After surgery)

सर्जरी के बाद कभी भी लहसुन का सेवन किसी भी रूप में नहीं करना चाहिए क्योंकि यह रक्तप्रवाह (Blood Flow) को और अधिक बढ़ा देता है जिससे रक्तस्त्राव (Bleeding) की संभावना बढ़ जाती है |

5. पाचन संबंधी समस्या ( Indigestion)

यदि किसी को पाचन संबंधी समस्या हो तो उसे लहसुन का सेवन सोच समझकर करना चाहिए क्योंकि यह गैस्टरोइंटेस्टिनल ट्रैक्ट में जलन पैदा करता है जिससे समस्या और गंभीर हो जाती है |

6. थायराइड की समस्या (Thyroid Problem)

जिन लोगों को थायराइड हो, उनके लिए लहसुन बहुत ही हानिकारक है | थायराइड वाले व्यक्तियों को कच्चा लहसुन तो बिलकुल ही नहीं खाना चाहिए |

7. दिल का दौरा पड़ने की संभावना (Possibility of heart attack)

खाली पेट बहुत अधिक लहसुन खाने पर स्वस्थ व्यक्ति को भी दिल का दौरा पड़ने की संभावना बनी रहती है |

8. त्वचा के लिए हानिकारक (Harmful for skin)

लहसुन के पेस्ट का इस्तेमाल कभी भी चेहरे पर नहीं करना चाहिए | चेहरे पर लगाने से इससे जलन पैदा होती है जो त्वचा को नुकसान पहुँचाता है |

9. बच्चों के लिए हानिकारक (Harmful for Kids)

बच्चों को लहसुन बहुत अधिक न खिलाएँ | इसका तासीर गर्म होने की वजह से बच्चों को पेट संबंधी बीमारी हो सकती हैं |

10. होमियोपैथी दवा खाने के दौरान परहेज (Avoid during homeopathy treatment)

होमियोपैथी दवा लेते समय लहसुन से परहेज करना चाहिए | होमियोपैथी दवा लेने वाले लोगों को डॉक्टर की तरफ से बिलकुल लहसुन खाने की बिलकुल मनाही होती है| क्योंकि इसकी गरमाहट होमियोपैथी दवा के असर को कम कर देता है |

Spread the love
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •   
  •  

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *